Chairman Desk

 
 

Chairman massage

अध्यक्ष महोदय की कलम से.....

जय जोहार,

छत्तीसगढ़ इकलौता राज्य है, जहां प्रदेश के कुल बजट का 16 फीसदी युवा बजट और युवाओं को कौशल उन्नयन का अधिकार देने कौशल विकास अधिकार अधिनियम 2013 लागू किया गया है। मुख्यमंत्री माननीय डाॅ. रमन सिंह के नेतृत्व में सरकार ने 21 वीं सदी की चुनौतियों, संभावनाओं और आवष्यकताओं को ध्यान में रखते हुए युवाओं के विकास और हित में शिक्षा, तकनीक, कौशल विकास, खेलकूद, रोजगार, स्व-रोजगार इत्यादि क्षेत्रों में कई सारी योजनाएं यथा युवा कैरियर निर्माण योजना, युवा सूचना क्रांति योजना, युवा कौशल विकास योजना, अंत्योदय युवा स्व-रोजगार योजना, मुख्यमंत्री युवा स्व-रोजगार योजना, युवा कल्याण योजना, मुख्यमंत्री युवा भारत दर्शन योजना, मुख्यमंत्री शहरी आजीविका मिशन, विवेकानंद युवा प्रोत्साहन योजना, मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा ब्याज अनुदान योजना, युवा क्षमता विकास योजना, स्वामी विवेकानंद ज्ञानोदय योजना, विवेकानंद गुरुकुल उन्नयन योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वालंबन योजना शुरू की है, जिससे युवाओं के भविष्य को नई दिशा और उनकी प्रतिभा को पहचान मिली है। प्रदेश के युवा, शिक्षा, व्यापार, उद्योग, सहित करियर निर्माण के तमाम क्षेत्रों में देश-दुनिया में अपनी बेहतर पहचान बनाकर छत्तीसगढ़ का गौरव बढ़ा रहे हैं। 


इसी क्रम में मुख्यमंत्री की दूरदर्शी मंशा के अनुरूप युवाओं को 21 वीं सदी की चुनौतियों के लिए तैयार करने और उनके विकास के लिए छत्तीसगढ़ राज्य युवा आयोग का गठन वर्ष 2000 में किया गया है। वर्ष 2015 में मुझे आयोग अध्यक्ष का दायित्व मिला। मेरे कार्यकाल के दो वर्ष की अवधि में आयोग का सेटअप, अधिनियम तैयार करने से लेकर युवाओं के लिए सांस्कृतिक, रचनात्मक, सहयोगात्मक एवं विकासात्मक कार्यक्रम शुरू किए गए। इसके अंतर्गत नया रायपुर में राष्ट्रीय युवा महोत्सव, रायपुर में पहली बार अंतरराष्ट्रीय हाॅकी लीग एवं पुणे में युवा संसद का आयोजन और नई पीढ़ी को पारंपरिक खेलों से जोड़ने दो दिवसीय पांरपरिक खेल प्रतियोगिता शुरू की गई। करियर एवं विषय चयन में युवाओं की परेशानियों को समझते हुए, जिलों में युवा प्रेरणा के तहत करियर मार्गदर्शन एवं रोजगार मेला कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसे युवाओं का अच्छा प्रतिसाद मिल रहा है। युवाओं की सांस्कृतिक, रचनात्मक एवं खेल गतिविधियों के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन भी आयोग कर रहा है, जिसमें प्रतिभावान युवाओं को सम्मानित किया जाता है। मेरी सोच यहीं तक सीमित नहीं रही, बल्कि युवाओं के लिए युवा नीति की आवष्यकता को महसूस करते हुए मैने देश के कई राज्यों की युवा नीति का अध्ययन करने उपरांत प्रदेश के युवाओं के लिए एक सशक्त एवं प्रभावी युवा नीति तैयार की। इसमें प्रदेश के युवाओं के विचारों, मांग को भी शामिल किया गया है। इसमें पहली बार तृतीय लिंग के लिए भी नीतियां समाहित की गई है। आयोग कार्यालय में तृतीय लिंग के प्रतिनिधि मंडल की बैठक में घंटों चर्चा उपरांत उनके सुझावों को इसमें प्राथमिकता दी गई। युवा नीति को लेकर छत्तीसगढ़ राज्य योजना आयोग के साथ हुई दिनभर की बैठक में युवा आयोग द्वारा तैयार की गई युवा नीति की सराहना की गई। मुख्यमंत्री डाॅ रमन सिंह जी की अध्यक्षता में उनके निवास में हुई बैठक में खुद मुख्यमंत्री ने युवा नीति को एक बार में ही अपनी सहमति दे दी। 

युवाओं के विकास का सहभागी.....


वर्तमान में आयोग का अपना पूर्ण सुसज्जित कार्यालय है, जिसका संचालन अंतरराष्ट्रीय हाॅकी स्टेडियम पिच नंबर-दो की बिल्डिंग से हो रहा है। मुख्यमंत्री जी के निर्देश एवं मार्गदर्शन में आयोग लगातार प्रदेश में अपनी पहचान बनाने में सफल हुआ है। आलम यह है कि जनप्रतिनिधि, जिला एवं विश्वविद्यालय प्रशाशन से लेकर सामाजिक संस्था, एनजीओ, खेल संगठन एवं आम नागरिक युवाओं के लिए कार्यक्रम आयोजित करने की मांग कर रहे हैं। मेरा मुख्य उद्देश्य सीमित बजट में अधिकतम गतिविधियां आयोजित करना रहा है। इसके लिए विभिन्न विभागों एवं जिला प्रशाशन के सहयोग से सफलतापूर्वक कार्यक्रमों के आयोजन हो रहे हंै। चूंकि, आयोग का अधिनियम स्वीकृत नहीं हुआ है, इसलिए युवाओं की समस्याओं का निराकरण शासन-प्रशाशन के माध्यम से करने का पुरजोर प्रयास मेरे द्वारा किया जा रहा है। इसी क्रम में युवाओं के सुझावों, मांगों एवं समस्याओं से अवगत होने और उनसे प्रत्यक्ष रूप से जुड़ने के लिए आयोग की वेबसाइट एवं युवा एप का निर्माण प्रक्रियाधीन है। 
सर्वविदित है कि नैतिक दायित्व और बेहतर सोच के साथ किए गए हर कार्य के परिणाम सुखद संतुष्टि प्रदान करते है। आयोग अध्यक्ष का दायित्व मिलने पर मैंने इसी सोच और निष्ठा के साथ अपने कार्य को गति दी। युवाओं के विकास से ही देश, समाज का विकास संभव है। युवाओं को एक बेहतर दिशा मिले और उनके भविष्य की दशा सुधरे इसी सोच के साथ युवा आयोग अपना कार्य कर रहा है। इसमें मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह के मार्गदर्शन की भी अहम भूमिका रही है, जिसके लिए उनका दिल से आभार। प्रदेश के युवाओं के विकास में एक सहभागी के रूप में आयोग सकारात्मकता एवं प्रभावशीलता के साथ अपनी कार्य योजनाओं को गति दे रहा है। पूरा विश्वास है कि हम इसमें निश्चित ही सफल होंगे और सशक्त युवा-सशक्त समाज के निर्माण में सफल होंगे।    इन्हीं अपेक्षाओं के साथ। जय छत्तीसगढ़।
 

(कमल चंद्र भंज देव)